बाल श्रम पर निबंध 2022(10 लाइन,100,150,200,250 शब्द)

बाल श्रम पर निबंध-नमस्कार दोस्तों, आप सभी का स्वागत है, आज के समय मे बाल श्रम बढ़ते जा रहा है, लेकिन बाल श्रम कानून अपराध है, 14 वर्ष से कम वर्ष के बच्चे को किसी भी कारखाने व प्रतिष्ठान में करना अपराध माना गया है, बाल श्रम को रोकने के लिए अनेक तरह के कार्यक्रम आयोजन किया जाता है, एवं सरकार भी बाल श्रम को रोकने में लगा हुआ है, एवं समय समय मे अनेक योजनाओ का क्रियान्वयन करता है।

बाल मजदूरी एक गंभीर व चिंता का विषय है, इसे कम करने के लिए हमें बच्चों को मुफ्त शिक्षा प्रदान करना होगा और उन माता-पिता को भी अपने बच्चों को काम पर ना भेजकर उन्हें उनका बचपन बाकी बच्चों की तरह जीने देना होगा, आज के समय मे बाल मजदूरी हर एक देश की चिंता है और इससे होने वाले नुकसान को सिर्फ उन मजबूर बच्चों को ही झेलना नहीं पड़ता, बल्कि पूरे समाज व पुरे देश को झेलना पड़ता है, आज हम इस पोस्ट के माध्यम से आपको बाल श्रम पर निबंध के बारे में बता रहे है, तो चलिए दोस्तों हम बाल श्रम के बारे में विस्तार से जानते है।

बाल-श्रम-पर-निबंध

बाल श्रम पर निबंध 10 लाइन

आज के समय मे लगातार बाल श्रम बढ़ रहा है, बाल श्रम पर दस लाइन निम्न है-

  1. बाल मजदूरी उसे कहा जाता है, जब किसी फर्म, कंपनी व अन्य प्रतिष्ठानों में बच्चे से मजबूरी में या फिर खुदके फायदे के लिए कम आयु में काम कराया जाता है।
  2. जब 14 वर्ष के नीचे के बच्चों से काम कराया जाता है, तब यह कार्य बाल मजदूरी की श्रेणी में आता है, और यह काननू अपराध है।
  3. बाल मजदूरी के कारण बच्चों को शिक्षा के स्तर में गिरावट आता है व वह बाकी बच्चों की तरह अपना बचपन माता पिता के प्यार व खुशी में नहीं बिता पाते है।
  4. बाल मजदूरी हमारे समाज के इतने शिक्षित होने के बावजूद भी पनप रही है, जो दिन ब दिन, प्रति दिन बढ़ते ही जा रहा है।
  5. वर्तमान समय मे बाल मजदूरी के बढ़ने का कारण मुख्य तौर पर गरीबी है, क्योंकि गरीबी की वजह से बच्चों के माता-पिता अपने बच्चों को शिक्षा देने में असफल रहते हैं व इसी वजह से वह बच्चों से काम करवाते हैं।
  6. बाल मजदूरी के कारण बच्चों में शिक्षा का अभाव तो होता ही है, इसके साथ ही उनके शारीरिक विकास पर भी बहुत बुरा प्रभाव पड़ता है, समय के साथ गलत रास्ते मे चले जाते है।
  7. बाल मजदूरी आज एक बिजनेस बन गया है, व कहीं लोग अनाथ बच्चों को पकड़कर उनसे मजदूरी कराने के लिए उन्हें बेच देते हैं या फिर उनसे भीख मंगवाते हैं।
  8. बाल मजदूरी के पीछे और एक बड़ा कारण है कि बच्चों को मजबूरी की वजह से काम करना पड़ता है, जिस वजह से कुछ लोग अपने फायदे के लिए बच्चों को कम पैसों में काम पर रखते हैं, और उनका शोषण करते है।
  9. हमेशा से बाल मजदूरी हमारे समाज के लिए एक श्राप है, जिसे हमें जड़ से मिटाने की जरूरत है व इसके लिए हम सब को एक मिलकर काम करना होगा।
  10. बाल मजदूरी के वजह से बच्चों में शिक्षा व व्यवहारिक ज्ञान का अभाव होता है व इस वजह से बच्चों के साथ कुछ गलत होने पर वही बच्चे गलत मार्ग पर चले जाते हैं, और जो कि किसी भी देश व समाज के लिए अच्छा नहीं होता है।

ये भी पढ़े:- सिंगल यूज़ प्लास्टिक पर निबंध

बाल श्रम पर निबंध 100 शब्द

वर्तमान समय मे भारत के नागरिकों को शिक्षा के प्रति जागरूक करने की जरूरत है, क्योकि जहाँ शिक्षा का अभाव है वही बाल श्रम दर बढ़ रहा है, क्योकि खुद शिक्षित नही है ऐसे में उन्नत कार्य करने में अक्षम है उसी तरह से अपने बच्चो के बारे में सोचते है कि पढ़ लिखकर मजदूरी है करना है ऐसे में आज ही क्यो न करे, इस तरह से बाल श्रम बढ़ रहा है। सरकार को बाल श्रम के लिए कड़े कानून बनाने की जरूरत है ताकि बाल श्रम पूर्णता समाप्त हो जाये, क्योकि बाल श्रम देश को दिमाग की तरह खोखला करता जा रहा है और आज के युवा पीढ़ी रास्ते से भटक रहे है, वर्तमान समय मे बाल श्रम को खत्म करने के लिए शिक्षा के बारे में जागरूकता फैलाने की जरूरत है।

बाल श्रम पर निबंध 150 शब्द में

वर्तमान समय मे बाल मजदूरी एक वैशविक समस्या बनता जा रहा अहि, जो कि विकासशील देशों में बेहद आम हो गया है, माता-पिता या गरीबी रेखा से नीचे के लोग अपने बच्चों की शिक्षा का खर्च वहन नहीं कर पाते है तब जीवन-यापन के लिये भी जरुरी पैसा भी नहीं कमा पाते है, तब इसी वजह से वह अपने बच्चों को स्कूल भेजने के बजाए कठिन श्रम में शामिल कर लेते है, जिसे बाल श्रम कहते है तथा वे लोग मानते है कि बच्चों को स्कूल भेजना समय की बर्बादी है तथा कम उम्र में पैसा कमायेगा तब परिवार के लिये अच्छा होगा, एवं वर्तमान समय मे बाल मजदूरी के बुरे प्रभावों से गरीब के साथ-साथ अमीर लोगों को भी आज के समय मे अवगत कराने की जरुरत है, उन्हें हर तरह की संसाधनों की उपलब्ता करानी चाहिये जिसकी उन्हें कमी है, एवं अमीरों को गरीबों की मदद करना चाहिए, जिससे उनके बच्चे सभी जरुरी चीजें अपने बचपन में पा सके, तथा इसको जड़ से मिटाने के लिये सरकार को कड़े नियम-कानून बनाने चाहिए, ताकि बाल श्रम में जल्द से जल्द रोक लग सके। बाल मजदूरी की उच्च दर अभी भी 50 प्रतिशत से अधिक है जिसमें 5 से 14 साल तक के बच्चे विकासशील देशों में काम कर रहे, इसे जल्द से जल्द खत्म करने की जरूरत है।

बाल श्रम पर निबंध 200 शब्द में

वर्तमान समय मे जब हम 21वी सदी में जी रहे है, वही जब भी 14 वर्ष से कम आयु के बच्चे से आमदनी कमाने के लिए होटलों, उद्योग धंधों, ढाबे, व चाय की दुकान आदि जगहों पर कार्य करता है तब वह बाल मजदूरी की श्रेणी में आता है, और हमारे देश की आजादी के इतने सालों बाद भी बाल मजदूरी हमारे देश के लिए आज भी कलंक बना हुआ है, यह आज भी बहुत ही विडंबना का विषय है कि आज की सदी के भारत में भी हम अपने बच्चों को उचित शिक्षा नहीं दे पा रहे है, और परिवार को जागरूक नही कर पा रहे है कि बाल श्रम कानून अपराध है।

वर्तमान समय मे बाल मजदूरी को बड़े लोगों व माफियाओं ने व्यापार बना लिया है जिसके कारण दिन प्रतिदिन हमारे देश में बाल श्रम बढ़ता ही जा रहा है व बच्चों का बचपन खराब हो रहा है, इससे बच्चों का भविष्य तो खराब होता ही है साथ में देश में गरीबी व भुखमरी फैलता है और देश के विकास में बाधाएं आता है।

वर्तमान समय मे हमें बाल श्रम को जड़ से मिटाने के लिए कड़े कानून बनाने होंगे साथ ही स्वयं को भी जागरूक होना होगा तभी इस बाल मजदूरी के अभिशाप से छुटकारा पाया जा सकेगा, आज के समय मे इसे जड़ से खत्म करना बहुत जरूरी हो गया है नही तो देश कभी भी विकसित नही होगा, और पिछड़ता चले जायेगा।

बाल श्रम पर निबंध 250 शब्द

प्रस्तावना :

आज के समय मे बाल श्रम हमारे देश व समाज के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण विषय है अब समय आ गया है कि हमें इस विषय पर बात करने के साथ-साथ अपनी नैतिक जिम्मेदारियां भी समझने की जरूरत है, तथा बाल मजदूरी को जड़ से उखाड़ फेंकना हमारे देश के लिए आज एक चुनौती बन चुका है क्योंकि बच्चों के माता-पिता ही आज बच्चों से बचपन में कार्य करवाने लगे है, एवं आज हमारे देश में किसी बच्चे का कठिन कार्य करते हुए देखना आम बात हो गई है।

बाल मजदूरी के कारण

• बाल मजदूरी का सबसे बड़ा कारण हमारे देश में गरीबी का होना है एवं गरीब परिवार के लोग अपनी आजीविका चलाने में असमर्थ होते हैं ऐसे में वे अपने बच्चों को बाल मजदूरी के लिए भेजते है।
• हमारे देश मे आज भी अधिक लोग अशिक्षित है, ऐसे में शिक्षा के अभाव के कारण अभिभावक यही समझते हैं कि जितना जल्दी बच्चे कमाना सीख जाए उतना ही जल्दी उनके लिए अच्छा होगा।

बाल मजदूरी के समाधान :

• बाल मजदूरी को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए में कड़े कानूनों का निर्माण करना होगा साथ ही उनकी सख्ती से जमीनी स्तर में पालना भी करवाना होगा।
• बाल मजदूरी को अगर खत्म करना है तब हमें लोगों को शिक्षित करना होगा साथ ही बच्चों की शिक्षा के लिए फ्री शिक्षा की व्यवस्था कराना होगा।
• समाज को शिक्षित करने की जरुरत है, ताकि देश का भविष्य बन सके, और बाल श्रम में रुकावट आ सके, बाल श्रम को शिक्षा के माध्यम से कम कर सकते है।

निष्कर्ष :

वर्तमान समय मे बाल मजदूरी हमारे देश के लिए एक गंभीर समस्या है अगर जल्द ही इस पर कोई संज्ञान नहीं लिया गया तब यह पूरे देश को दीमक की तरह निगल जाएगा, और बच्चे ही हमारे देश का भविष्य है यदि उन्हीं का बचपन अंधेरे व बाल श्रम में बीतेगा तो हम एक सुदृढ़ भारत की कल्पना हम कैसे कर सकते है।

अपनी दोस्तो के साथ शेयर करे

Leave a Comment