5 September Teacher Day Speech in Hindi | Teacher Day पर भाषण(2021)।

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे नए आर्टिकले पे , आज हम Teacher Day Speech in Hindi Langugae में कख्या के अनुषार तैयार की है । दोस्तों Teachers Day आने वाला है और इस अवसर पर हम सभी अपने अपने अध्यापकों के लिए कुछ करना चाहते हैं । अगर आप अपने अध्यापक के लिए कोई speech सुनाना चाहते हैं, तो जरूर पढ़ें हमारा ब्लॉग शिख्यक दिवस पर भाषण। इससे आप अपनी speech on Teachers Day in Hindi आसानी से तैयार कर सकते हैं। हम बहुत सरल शब्दों मे बताएँगे की कैसे तैयार करें Teachers Day Speech in hindi हिन्दी मे ।

Teacher day speech in hindi


सबसे पहले आप मंच पर जाएंगे और अपने अध्यापकों और आध्यापिकाओ और अपने से बड़ों का अभिवादन करेंगे, अपने से छोटे और बराबर वालों को अपना प्यार देंगे।

Teacher Day Speech in Hindi | Teacher Day पर भाषण।


आप बोलेंगे,
जैसा की आप सब लोग जानते हैं आज अध्यापक दिवस है और इस अवसर पर मैं अपने अध्यापकों और अध्यापिकाओं को बहुत बहुत बधाई देता हूँ। और विनती करता हूँ की वे ऐसे ही हम सब बच्चों पर अपना प्यार बनाए रखें।

दोस्तों अध्यापक दिवस सितम्बर को भारत के महान शिक्षक और दार्शनिक डॉक्टर सर्वपिल्लई राधाकृष्णन के जन्मदिवस के अवसर पर मनाया जाता है। वे स्वतंत्र भारत के प्रथम उपराष्ट्रपति और द्वितीय राष्ट्रपति थे। उन्होने अपने जीवन का 40 वर्ष अध्यापन कार्य करने मे बिताया और OXFORD UNIVERSITY में भी अध्यापन कार्य किया उसके बाद वे राजनीति मे आये। वे दुनिया को एक विद्यालय समझते थे उनका मानना था की शिक्षा के द्वारा ही मानव के दिमाग का सही उपयोग हो सकता है।

लेकिन क्या आपलोगों को पता है की उनके जन्मदिवस के दिन ही अध्यापक दिवस क्यू मनाया जाता है?  दरअसल हुआ यूँ की जब वे भारत के राष्ट्रपति थे तो उनके मित्रों और कुछ विद्यार्थियों ने उनका जन्मदिवस मनाने के लिए उनसे अनुमति मांगी। जिसके जवाब मे उन्होने कहा की जश्न भारत के हर अध्यापक के लिए होना चाहिए अकेले मेरे लिए नहीं। तभी से उनके जन्मदिवस के दिन अध्यापक दिवस मनाने की परंपरा शुरू हुई।

ये भी पढे :-स्वतंत्रता दिवस पर भाषण 2021


दोस्तों हमारी भारतीय संस्कृति मे गुरु को सर्वोच्च दर्जा प्राप्त है। कहते हैं की गुरु बिना मोक्ष नहीं मिल सकता। गुरु ही है जो एक लापरवाह लड़के को एक जिम्मेदार इंसान बनाता है। माँ बाप  जिंदगी देते हैं लेकिन अध्यापक जिंदगी बनाते हैं। हम बच्चों के पास समय तो होता है मगर समझदारी नहीं होती है।

अध्यापक हमको समय रहते समझदारी देता है। अध्यापन वो क्षेत्र है जो सबसे ज्यादा सम्मान की योग्यता रखता है। हर इंसान का पहला गुरु उसकी माँ होती है, इंसान भविष्य मे क्या करेगा कैसा बनेगा इन सबमे उसकी माँ का महत्वपूर्ण योगदान रहता है इसलिए हमें लड़कियो को भी लड़को के समान शिक्षा चुनने की आज़ादी देनी चाहिए।

ये भी पढे :-best motivational speech in Hindi 2021

अध्यापक एक मोमबत्ती की तरह होता है जो खुद खर्च होकर तमाम विद्यार्थियों की जिंदगी को रोशन करता है। हमें अपने गुरुजनों का सम्मान करना चाहिए उनकी आज्ञा माननी चाहिए। याद रखिए लक्ष्मण भी रावण के पैरों के पास हाथ जोड़े खड़े थे ज्ञान की आशा में। कुछ अध्यापक थोड़े कठोर स्वभाव के होते हैं परंतु वो भी विद्यार्थियों के भले के लिए ही होता है, अध्यापक की गरिमा बनी रहनी चाहिए क्यूकी एक कहावत है की लोग पी जाते समंदर को अगर वो खारा ना होता।

इसी के साथ मैं एक बार फिर अपने सभों गुरुजनों का आभार व्यक्त करते हुए अपनी वाणी को आराम देता हूँ। और मुझे मेरे विचार रखने के लिए धन्यवाद देता हूँ।
धन्यवाद।
दोस्तों हमें उम्मीद है की आपको हमारा ये BLOG Teacher Day Speech in Hindi जरूर पसंद आया होगा। इस ब्लॉग के बारे मे हमे अपनी राय comment box मे अवश्य दें। और अपने उन दोस्तों को भी share करें जो Teachers Day Speech in हिन्दी तैयार करना चाहते हैं।

शिक्षयक दिवस कितने रतिख को मनाई जाती है ?

शिक्षयस्क दिवस हर साल 5 सितंबर को पूरे भारत मे पालन किया जाता है ।

किसके जन्म दिन को शिक्षयक दिवस के रूप मे पालन किया जाता है ?

भारत के महान शिक्षक और दार्शनिक डाक्टर सर्वपल्ली राधाकृष्णन की जन्मदिवस के अवसर पर मनाया जाता है


Leave a Comment